Thursday, May 23, 2024

hanuman chalisa in hindi pdf

Share

Introduction

श्री हनुमान चालीसा को रचने का श्रेय गोस्वामी तुलसीदास को जाता है जैसे कि hanuman chalisa in hindi pdf में भी बताया गया है । आध्यात्मिकता मानव जीवन का सार है। ज़िंदगी के उद्गम से लेकर अस्त होने तक आध्यात्म हमेशा साथ रहता है। आध्यात्मिक आनंद को महसूस करने के अनेक तरीके हो सकते है परन्तु भक्ति इसका सर्वोपरि तरीका है जो न जाने कितनी सदियों से हमसे जुड़ा हुआ है। भक्ति जहां मन को साधने का काम करती है वही अपने इष्ट के प्रति श्रद्धा को जताने में भी काम आती है।

hanuman chalisa in hindi pdf

असंख्य देवी देवताओं के वर्णन से सराबोर भारत भूमि में भक्ति का सर्वत्र प्रचार और प्रसार देखने को मिलता है। भारतीय इतिहास में अनुपम लोकप्रियता अगर किसी को मिली है तो वह भक्ति ही है और जब भक्ति का नाम आता है तो बजरंग बलि का वर्णन जरूर किया जाता है। हो भी क्यों न, भक्ति और बजरंग बलि शब्द एक दूसरे के पर्याय जो बन चुके है। hanuman chalisa in hindi pdf पर जाने से पहले से पहले आइये हनुमान चालीसा के बारे में अन्य तथ्यों को भी जान लेते है

तो इस प्रकार रची गयी श्री हनुमान चालीसा

जैसे कि सभी जानते है कि हनुमान चालीसा को गोस्वामी तुलसीदास ने लिखा था परन्तु यह बहुत कम लोग जानते होंगे कि हनुमान चालीसा को मुग़ल सम्राट अकबर के शासनकाल के दौरान लिखा गया था। ऐसे भी कह सकते है कि तुलसीदास को हनुमान चालीसा लिखने की प्रेरणा अकबर का घमंड चूर करने के उद्देश्य से मिली परन्तु यह सत्य है या नहीं, प्रमाणित नहीं किया जा सकता। इस पोस्ट के अंत में आप hanuman chalisa in hindi pdf और hanuman chalisa अंग्रेजी में डाउनलोड कर सकते है । 

मुग़ल बादशाह अकबर और गोस्वामी तुलसीदास एक दूसरे के समकालीन रहे है। सन १६०० ईस्वी में तुलसीदास जी मथुरा के लिए प्रस्थान करते हुए आगरा में ठहरते है तो लोगों की भीड़ उनके दर्शन के लिए उतावली हो जाती है। यह खबर अकबर को मिलती है तो वह बीरबल से तुलसीदास के बारे में पूछते है। बीरबल बताते है कि वे श्री रामचरितमानस के महान रचयिता है और वह स्वयं उनके दर्शन करके आया है। प्रभावित होकर अकबर ने तुलसीदास जी को लाल किले में उपस्थित होने का आदेश जारी कर दिया। स्पष्ट था कि अकबर का बादशाही घमंड को चोट पहुंची थी। Hanuman chalisa in hindi pdf can be downloaded below.

तुलसीदास जी ठहरे आध्यात्मिक महानुभाव, उन्हें अकबर का ये आदेश जंचा नहीं। प्रभु श्री राम की भक्ति के अलावा उनके लिए दुनिया की और चीजे नगण्य थी। न उन्हें लाल किले से लेना देना था न ही अकबर से। उन्होंने लाल किले में जाने से मना कर दिया। 

hanuman chalisa in hindi pdf

अकबर ने इसे अपमान समझ कर तुलसीदास जी को जंजीरों में जकड कर लाल किले में लाने का आदेश दे दिया। जब उन्हें अकबर के सामने लाया गया तो अकबर ने उन्हें कोई चमत्कार दिखाने का आदेश किया। तुलसीदास जी भी कह दिया कि वे श्री राम के भक्त है न कि कोई जादूगर। ऐसे जवाब सुनकर आग बबूला हुए अकबर ने उन्हें काल कोठरी में डालने का फरमान जारी कर दिया।

किवदंती के अनुसार अगले ही दिन किले पर अनगिनत वानरों ने धावा बोल दिया और जमकर उत्पात मचाया। अकबर जब भी परेशान होता था तब बीरबल को ही याद करता था और यह समय भी परेशानी वाला ही था। बीरबल ने अकबर से कहा कि जो चमत्कार आप देखना चाहते थे वो आपके सामने ही है। तुलसीदास जी को छोड़ने में ही सबकी भलाई है।

अंग्रेजी और हिंदी दोनों ही भाषाओँ में hanuman chalisa in hindi pdf डाउनलोड करें 

hanuman chalisa in hindi pdf

 

छूटने पर तुलसीदास जी ने कहा कि मुझ निरपराध को सजा दी गयी, मैंने काल कोठरी में अपने इष्ट को रोते हुआ याद किया और मेरे हाथ स्वयं ही कुछ लिखते चले गए। जिन ४० चौपाइयों की इस प्रकार रचना हुई उन्हें ही श्री हनुमान चालीसा का नाम से जाना जायेगा। अकबर बहुत लज्जित हुआ और उसने गोस्वामी जी से अपनी भूल हेतु क्षमादान का आग्रह किया। 

Free download the power of subconscious mind pdf: A must read

अर्थसहित व्याख्या

श्री हनुमान चालीसा एक प्रकट जीवित विद्यमान कालजयी रचना है जिसकी समुचित व्याख्या करना असंभव है। प्रस्तुत व्याख्या मात्र एक कोशिश है। अधिक विस्तार से व्याख्या हेतु श्री हनुमान चालीसा का स्वयं ही पठन पाठन करना उचित है।

hanuman chalisa in hindi  pdf

हनुमान चालीसा मुख्य रूप से भगवान हनुमान के गुणों, गुणों और कार्यों की प्रशंसा करती है, जो अपनी अपार शक्ति, भगवान राम के प्रति अटूट भक्ति और भारतीय महाकाव्य, रामायण में उनकी भूमिका के लिए पूजनीय हैं। हम लोग कभी न कभी श्री हनुमान चालीसा को जरूर सुनते है और padhtey भी है परन्तु इसके अर्थ के बारे में बहुत कम लोग जानते होंगे। आइये कोशिश करते है जानने की। अधिक जानकारी के लिए hanuman chalisa in hindi pdf डाउनलोड करें।

श्री हनुमान चालीसा अर्थ सहित!!

श्री गुरु चरण सरोज रज, निज मन मुकुरु सुधारि।

बरनऊँ रघुवर बिमल जसु, जो दायकु फल चारि।

Shri Guru Charan Saroj Raj, nij mann mukur sudhar

Barnaun raghuvar bimal jasu, jo dayak fal chaar

अर्थ – गुरु महाराज के चरण.कमलों की धूलि से अपने मन रुपी दर्पण को पवित्र करके श्री रघुवीर के निर्मल यश का वर्णन करता हूँ, जो चारों फल धर्म, अर्थ, काम और मोक्ष को देने वाला है।

Having purified the mirror of my mind with the dust of Guru Maharaj’s lotus feet, I describe the pure glory of Shri Raghuveer, who gives the four fruits of Dharma, Artha, Kama and Moksha.

hanuman chalisa in hindi  pdf

आर्टिकल के अंत में hanuman chalisa in hindi pdf डाउनलोड करें।

बुद्धिहीन तनु जानिके, सुमिरो पवन कुमार।

बल बुद्धि विद्या देहु मोहिं, हरहु कलेश विकार।

Budhiheen tanu janikey, sumiro pawan kumar

Bal budhi vidhya dehu mohi, harhu kalesh vikaar

अर्थ – हे पवन कुमार! मैं आपको सुमिरन.करता हूँ। आप तो जानते ही हैं, कि मेरा शरीर और बुद्धि निर्बल है। मुझे शारीरिक बल, सदबुद्धि एवं ज्ञान दीजिए और मेरे दुःखों व दोषों का नाश कर दीजिए।

Hey Pawan Kumar! I remember you. You know that my body and intellect are weak. Give me physical strength, wisdom and knowledge and destroy my sorrows and faults.

अधिक जानकारी के लिए hanuman chalisa in hindi pdf डाउनलोड करें।

जय हनुमान ज्ञान गुण सागर, जय कपीस तिहुँ लोक उजागर॥1॥

Jai Hanuman gyaan gun saagar, jai kapees tinhu lok ujaagar

श्री हनुमान जी! आपकी जय हो। आपका ज्ञान और गुण अथाह है। हे कपीश्वर! आपकी जय हो! तीनों लोकों,स्वर्ग लोक, भूलोक और पाताल लोक में आपकी कीर्ति है।

Shri Hanuman ji! Hail thee. Your knowledge and qualities are immense. Hey Kapishwar! Hail thee! You are famous in all three worlds, heaven, earth and underworld.

hanuman chalisa in hindi pdf

 

राम दूत अतुलित बलधामा, अंजनी पुत्र पवन सुत नामा॥2॥

Ram doot atulit bal dhama, Anjani putra pawan sut nama

हे पवनसुत अंजनी नंदन! आपके समान दूसरा बलवान नही है।

Oh wind-swept Anjani Nandan! There is no one as strong as you.

महावीर विक्रम बजरंगी, कुमति निवार सुमति के संगी॥3॥

Mahaveer vikram bajrangi, kumat nivaar sumat ke sangi

महावीर बजरंग बली! आप विशेष पराक्रम वाले है। आप खराब बुद्धि को दूर करते है, और अच्छी बुद्धि वालो के साथी, सहायक है।

अधिक जानकारी के लिए hanuman chalisa in hindi pdf डाउनलोड करें।

Mahavir Bajrang Bali! You have special courage. You remove bad intelligence and are a companion and helper to those with good intelligence.

कंचन बरन बिराज सुबेसा, कानन कुण्डल कुंचित केसा॥4॥

Kanchan Baran Biraaj subesa, Kaanan kundal kunchit kesa

सुनहले रंग, सुन्दर वस्त्रों, कानों में कुण्डल और घुंघराले बालों से सुशोभित हैं।

Adorned with golden complexion, beautiful clothes, earrings and curly hair.

हाथ ब्रज और ध्वजा विराजे, काँधे मूँज जनेऊ साजै॥5॥

Haath bajr aur dhwaja biraajey, kandhey moonj janeu saajey

हाथ मे बज्र और ध्वजा है और कन्धे पर मूंज के जनेऊ की शोभा है।

There is a thunderbolt and flag in his hand and the sacred thread of Moonj is adorned on his shoulder.

hanuman chalisa in hindi  pdf

शंकर सुवन केसरी नंदन, तेज प्रताप महा जग वंदन॥6॥

Shankar Suwan Kesari nandan, tej pratap maha jag vandan

शंकर के अवतार! हे केसरी नंदन! आपके पराक्रम और महान यश की संसार भर मे वन्दना होती है।

Incarnation of Shankar! Hey Kesari Nandan! Your bravery and great fame are revered throughout the world.

अधिक जानकारी के लिए hanuman chalisa in hindi pdf डाउनलोड करें।

विद्यावान गुणी अति चातुर, राम काज करिबे को आतुर॥7॥

Vidyavaan guni ati chatur, raam kaaj karibey ko aatur

प्रकान्ड विद्या निधान है, गुणवान और अत्यन्त कार्य कुशल होकर श्री राम काज करने के लिए आतुर रहते है।

Endowed with immense knowledge, is talented and extremely efficient, and is eager to do Shri Ram’s work.

प्रभु चरित्र सुनिबे को रसिया, राम लखन सीता मन बसिया॥8॥

Prabhu Charitra sunibey ko rasiya, Ram Lakhan Sita man basiya

श्री राम चरित सुनने मे आनन्द रस लेते है। श्री राम, सीता और लखन आपके हृदय मे बसे रहते है।

Enjoy listening to Shri Ram’s character. Shri Ram, Sita and Lakhan reside in your heart. Read and find devotional feeling by downloading hanuman chalisa in hindi pdf.

hanuman chalisa in hindi pdf

 

सूक्ष्म रुप धरि सियहिं दिखावा, बिकट रुप धरि लंक जरावा॥9॥

sooksham roop dhari siyahin dikhava, bikat roop dhari lank jarava

अपना बहुत छोटा रुप धारण करके सीता जी को दिखलाया और भयंकर रूप करके.लंका को जलाया।

Taking his very small form, he showed it to Sita ji and in his terrible form, he burnt Lanka.

भीम रुप धरि असुर संहारे, रामचन्द्र के काज संवारे॥10॥

Bheem roop dhari asur sanhare, raamchandra ke kaaj sanware

विकराल रुप धारण करके.राक्षसों को मारा और श्री रामचन्द्र जी के उदेश्यों को सफल कराया।

By assuming a monstrous form, he killed the demons and made the objectives of Shri Ramchandra ji successful.

अधिक जानकारी के लिए hanuman chalisa in hindi pdf डाउनलोड करें।

लाय सजीवन लखन जियाये, श्री रघुवीर हरषि उर लाये॥11॥

laaye sajeevan Lakhan jiyaye, Shree Raghuveer harsh ur laaye

आपने संजीवनी बुटी लाकर लक्ष्मणजी को जिलाया जिससे श्री रघुवीर ने हर्षित होकर आपको हृदय से लगा लिया।

You revived Lakshmanji by bringing Sanjeevani Booti, due to which Shri Raghuveer became happy and embraced you in his heart.

hanuman chalisa in hindi pdf

रघुपति कीन्हीं बहुत बड़ाई, तुम मम प्रिय भरत सम भाई॥12॥

Raghupati kinhi bahut badaai, tum mam priyey bharatahin sam bhai

श्री रामचन्द्र ने आपकी बहुत प्रशंसा की और कहा की तुम मेरे भरत जैसे प्यारे भाई हो।

Shri Ramchandra praised you a lot and said that you are a dear brother like my Bharat.

सहस बदन तुम्हरो जस गावैं, अस कहि श्री पति कंठ लगावैं॥13॥

Sahas badan tumhro jas gaave, as keh shripati kanth lagaven

श्री राम ने आपको यह कहकर हृदय से.लगा लिया की तुम्हारा यश हजार मुख से सराहनीय है।

Shri Ram took you to his heart by saying that your fame is praiseworthy with thousands of mouths.

अधिक जानकारी के लिए hanuman chalisa in hindi pdf डाउनलोड करें।

 

सनकादिक ब्रह्मादि मुनीसा, नारद,सारद सहित अहीसा॥14॥

Sankadik Brahmadik Munisa, Naarad Saarad Sahit Aheesa

श्री सनक, श्री सनातन, श्री सनन्दन, श्री सनत्कुमार आदि मुनि ब्रह्मा आदि देवता नारद जी, सरस्वती जी, शेषनाग जी सब आपका गुण गान करते है।

Shri Sanak, Shri Sanatan, Shri Sanandan, Shri Sanatkumar etc., sage Brahma etc., gods Narad ji, Saraswati ji, Sheshnag ji all sing your praises.

hanuman chalisa in hindi pdf

जम कुबेर दिगपाल जहाँ ते, कबि कोबिद कहि सके कहाँ ते॥15॥

Jam Kuber Digpaal Jahaan tey, Kabi Kobid keh sake kahaan tey

यमराज,कुबेर आदि सब दिशाओं के रक्षक, कवि विद्वान, पंडित या कोई भी आपके यश का पूर्णतः वर्णन नहीं कर सकते।

Yamraj, Kuber, protector of all directions, poets, scholars, pundits or anyone else cannot describe your fame completely.

तुम उपकार सुग्रीवहि कीन्हा, राम मिलाय राजपद दीन्हा॥16॥

Tum upkaar Sugrivahin keena, Ram Milay raajpad deena

आपनें सुग्रीव जी को श्रीराम से मिलाकर उपकार किया, जिसके कारण वे राजा बने।

You did a favor to Sugriva by uniting him with Shri Ram, due to which he became king.

अधिक जानकारी के लिए hanuman chalisa in hindi pdf डाउनलोड करें।

तुम्हरो मंत्र विभीषण माना, लंकेस्वर भए सब जग जाना ॥17॥

Tumhro mantra Vibhishan mana, Lankeshwar bhay sab jag jana

आपके उपदेश का विभिषण जी ने पालन किया जिससे वे लंका के राजा बने, इसको सब संसार जानता है।

The whole world knows that Vibhishan ji followed your advice and became the king of Lanka.

hanuman chalisa in hindi pdf

जुग सहस्त्र जोजन पर भानू, लील्यो ताहि मधुर फल जानू॥18॥

Jug Sahastra jojan par bhanu, leelyon tahi madhur fal janu

जो सूर्य इतने योजन दूरी पर है की उस पर पहुँचने के लिए हजार युग लगे। दो हजार योजन की दूरी पर स्थित सूर्य को आपने एक मीठा फल समझ कर निगल लिया।

The Sun which is at such a distance that it takes a thousand yugas to reach it. You swallowed the Sun, which was situated at a distance of two thousand yojanas, considering it a sweet fruit.

प्रभु मुद्रिका मेलि मुख माहि, जलधि लांघि गये अचरज नाहीं॥19॥

Prabhu mudrika mel mukh mahi, jaldhi laanghi gaye acharaj naahi

आपने श्री रामचन्द्र जी की अंगूठी मुँह मे रखकर समुद्र को लांघ लिया, इसमें कोई आश्चर्य नही है।

There is no surprise in the fact that you crossed the ocean with Shri Ramchandra ji’s ring in your mouth.

अधिक जानकारी के लिए hanuman chalisa in hindi pdf डाउनलोड करें।

दुर्गम काज जगत के जेते, सुगम अनुग्रह तुम्हरे तेते॥20॥

Durgam Kaaj jagat ke jete, sugam anugrah tumhre tete

संसार मे जितने भी कठिन से कठिन काम हो, वो आपकी कृपा से सहज हो जाते है।

Whatever difficult tasks there are in this world, they become easy with your grace.

hanuman chalisa in hindi pdf

राम दुआरे तुम रखवारे, होत न आज्ञा बिनु पैसारे॥21॥

Ram duarey tum rakhwarey, hot n aagya bin paisaarey

श्री रामचन्द्र जी के द्वार के आप.रखवाले है, जिसमे आपकी आज्ञा बिना किसी को प्रवेश नही मिलता अर्थात आपकी प्रसन्नता के बिना राम कृपा दुर्लभ है।

You are the guardian of the door of Shri Ramchandra ji, in which no one can enter without your permission, that is, without your happiness, Ram’s grace is rare.

Read and find devotional feeling by downloading hanuman chalisa in hindi pdf.

सब सुख लहै तुम्हारी सरना, तुम रक्षक काहू.को डरना॥22॥

Sab sukh lahai tumhari sarna, tum rakshak kahu ko darna

जो भी आपकी शरण मे आते है, उस सभी को आन्नद प्राप्त होता है, और जब आप रक्षक. है, तो फिर किसी का डर नही रहता।

Whoever takes refuge in you, everyone finds happiness, and when you are the protector. If so, then there is no fear of anyone.

आपन तेज सम्हारो आपै, तीनों लोक हाँक ते काँपै॥23॥

Apan tej samharo aapai, teeno lok haank te kaanpai

आपके सिवाय आपके वेग को कोई नही रोक सकता, आपकी गर्जना से तीनों लोक काँप जाते है।

Except you, no one can stop your speed, your roar makes all three worlds tremble.

hanuman chalisa in hindi pdf

अधिक जानकारी के लिए hanuman chalisa in hindi pdf डाउनलोड करें।

भूत पिशाच निकट नहिं आवै, महावीर जब नाम सुनावै॥24॥

Bhoot Pishach nikat nahi aave, Mahaveer jab naam sunavai

जहाँ महावीर हनुमान जी का नाम सुनाया जाता है, वहाँ भूत, पिशाच पास भी नही फटक सकते

Where the name of Mahavir Hanuman ji is recited, ghosts and devils cannot even come near there.

नासै रोग हरै सब पीरा, जपत निरंतर हनुमत बीरा॥25॥

Naasey rog hare sab peera, Japat nirantar hanumat beera

वीर हनुमान जी! आपका निरंतर जप करने से सब रोग चले जाते है,और सब पीड़ा मिट जाती है।

Brave Hanuman ji! By chanting you continuously, all diseases go away and all pain goes away.

Kindly download hanuman chalisa in hindi pdf at the end of this article.

संकट तें हनुमान छुड़ावै, मन क्रम बचन ध्यान जो लावै॥26॥

Sankat tey hanumaan chhudwai, man karam bachan dhyaan jo laavai

हे हनुमान जी! विचार करने मे, कर्म करने मे और बोलने मे, जिनका ध्यान आपमे रहता है, उनको सब संकटो से आप छुड़ाते है।

Hey Hanuman ji! Those whose attention remains on you in thinking, action and speaking, you free them from all troubles.

अधिक जानकारी के लिए hanuman chalisa in hindi pdf डाउनलोड करें।

सब पर राम तपस्वी राजा, तिनके काज सकल तुम साजा॥ 27॥

Sab par Ram tapasvi raja, tinkey kaaj sakal tum saaja

तपस्वी राजा श्री रामचन्द्र जी सबसे श्रेष्ठ है, उनके सब कार्यो को आपने सहज मे कर दिया।

Ascetic king Shri Ramchandra ji is the best, you did all his tasks easily.

hanuman chalisa in hindi pdf

और मनोरथ जो कोइ लावै, सोई अमित जीवन फल पावै॥28॥

Aur manorath jo koi laavai, soi amit jeevan fal paavai

जिस पर आपकी कृपा हो, वह कोई भी अभिलाषा करे तो उसे ऐसा फल मिलता है जिसकी जीवन मे कोई सीमा नही होती।

Whoever is blessed by you, if he makes any wish, he gets such a result which has no limit in his life.

चारों जुग परताप तुम्हारा, है परसिद्ध जगत उजियारा॥29॥

Chaaron jug pratap tumhara, hai parsidh jagat ujiyara

चारो युगों सतयुग, त्रेता, द्वापर तथा कलियुग मे आपका यश फैला हुआ है, जगत मे आपकी कीर्ति सर्वत्र प्रकाशमान है।

Your fame has spread in all four yugas, Satyayuga, Treta, Dwapar and Kaliyuga, your fame is shining everywhere in the world.

अधिक जानकारी के लिए hanuman chalisa in hindi pdf डाउनलोड करें।

साधु सन्त के तुम रखवारे, असुर निकंदन राम दुलारे॥30॥

Sadhu sant ke tum rakhware, asur nikandan raam dulaarey

हे श्री राम के दुलारे ! आप.सज्जनों की रक्षा करते है और दुष्टों का नाश करते है।

O beloved of Shri Ram! You protect the gentlemen and destroy the wicked.

hanuman chalisa in hindi pdf

अष्ट सिद्धि नौ निधि के दाता, अस बर दीन जानकी माता॥३१॥

Asht Sidhi nau nidhi ke data, as bar deenh jaanki mata

आपको माता श्री जानकी से ऐसा वरदान मिला हुआ है, जिससे आप किसी को भी आठों सिद्धियां और नौ निधियां दे सकते है।

You have received such a boon from Mata Shri Janaki, by which you can give all eight siddhis and nine nidhis to anyone.

  1. अणिमा → जिससे साधक किसी को दिखाई नही पड़ता और कठिन से कठिन पदार्थ मे प्रवेश कर.जाता है।
  2. महिमा → जिसमे योगी अपने को बहुत बड़ा बना देता है।
  3. गरिमा → जिससे साधक अपने को चाहे जितना भारी बना लेता है।
  4. लघिमा → जिससे जितना चाहे उतना हल्का बन जाता है।
  5. प्राप्ति → जिससे इच्छित पदार्थ की प्राप्ति होती है।
  6. प्राकाम्य → जिससे इच्छा करने पर वह पृथ्वी मे समा सकता है, आकाश मे उड़ सकता है।
  7. ईशित्व → जिससे सब पर शासन का सामर्थय हो जाता है।
  8. वशित्व → जिससे दूसरो को वश मे किया जाता है।

राम रसायन तुम्हरे पासा, सदा रहो रघुपति के दासा॥32॥

Ram rasayan tumhre pasa, sada raho raghupati ke dasa

आप निरंतर श्री रघुनाथ जी की शरण मे रहते है, जिससे आपके पास बुढ़ापा और असाध्य रोगों के नाश के लिए राम नाम औषधि है।

You constantly remain in the shelter of Shri Raghunath ji, due to which you have the medicine named Ram to cure old age and incurable diseases.

अधिक जानकारी के लिए hanuman chalisa in hindi pdf डाउनलोड करें।

hanuman chalisa in hindi pdf

तुम्हरे भजन राम को पावै, जनम जनम के दुख बिसरावै॥33॥

Tumhre bhajan ram ko paavai, janam janam ke dukh bisraaye

आपका भजन करने से श्री राम.जी प्राप्त होते है, और जन्म जन्मांतर के दुःख दूर होते है।

By worshiping you, one attains Shri Ram and the sorrows of many births are removed.

अन्त काल रघुबर पुर जाई, जहाँ जन्म हरि भक्त कहाई॥34॥

Ant Kaal Raghubar pur jaai, Jahan Janam hari bhakt kahaai

अंत समय श्री रघुनाथ जी के धाम को जाते है और यदि फिर भी जन्म लेंगे तो भक्ति करेंगे और श्री राम भक्त कहलायेंगे।

At the end, he goes to the abode of Shri Raghunath ji and if he is still born, he will do devotion and will be called a devotee of Shri Ram.

अंग्रेजी और हिंदी में hanuman chalisa in hindi pdf डाउनलोड करें 

और देवता चित न धरई, हनुमत सेई सर्व सुख करई॥35॥

Aur devta chit n dharaee, hanumat sei sarv sukh karai

हे हनुमान जी! आपकी सेवा करने से सब प्रकार के सुख मिलते है, फिर अन्य किसी देवता की आवश्यकता नही रहती।

Hey Hanuman ji! By serving you one gets all kinds of happiness, then there is no need for any other deity.

hanuman chalisa in hindi pdf

संकट कटै मिटै सब पीरा, जो सुमिरै हनुमत बलबीरा॥36॥

sankat katai mitai sab peera, jo sumirai hanumat balbeera

हे वीर हनुमान जी! जो आपका सुमिरन करता रहता है, उसके सब संकट कट जाते है और सब पीड़ा मिट जाती है।

O brave Hanuman ji! One who keeps remembering you, all his troubles go away and all his pain goes away.

अधिक जानकारी के लिए hanuman chalisa in hindi pdf डाउनलोड करें।

जय जय जय हनुमान गोसाईं, कृपा करहु गुरु देव की नाई॥37॥

Jai Jai Jai Hanuman Gosaieen, kripa karahu gurudev ki naai

हे स्वामी हनुमान जी! आपकी जय हो, जय हो, जय हो! आप मुझपर कृपालु श्री गुरु जी के समान कृपा कीजिए।

O Lord Hanuman! Glory to you, glory to you, glory to you! Please bless me like the merciful Shri Guru Ji.

जो सत बार पाठ कर कोई, छुटहि बँदि महा सुख होई॥38॥

Jo sat bar paath kar koi, chhutai bandi maha sukh hoi

जो कोई इस हनुमान चालीसा का सौ बार पाठ करेगा वह सब बन्धनों से छुट जायेगा और उसे परमानन्द मिलेगा।

Whoever recites this Hanuman Chalisa a hundred times will be freed from all bondages and will attain bliss. For english version download hanuman chalisa in hindi pdf below.

hanuman chalisa in hindi pdf

अधिक जानकारी के लिए hanuman chalisa in hindi pdf डाउनलोड करें।

जो यह पढ़ै हनुमान चालीसा, होय सिद्धि साखी गौरीसा॥39॥

Jo yah padhai hanuman chalisa, hoye sidhi sakhi gorisa

भगवान शंकर ने यह हनुमान चालीसा लिखवाया, इसलिए वे साक्षी है कि जो इसे पढ़ेगा उसे निश्चय ही सफलता प्राप्त होगी।

Lord Shankar got this Hanuman Chalisa written, hence he is a witness that whoever reads it will definitely achieve success.

तुलसीदास सदा हरि चेरा, कीजै नाथ हृदय मँह डेरा॥40॥

Tulsidas sada hari chera, Keejai nath hriday mahn dera

हे नाथ हनुमान जी! तुलसीदास सदा ही श्री राम का दास है।इसलिए आप उसके हृदय मे निवास कीजिए।

O Nath Hanuman ji! Tulsidas is always a servant of Shri Ram. Therefore, please reside in his heart.

अधिक जानकारी के लिए hanuman chalisa in hindi pdf डाउनलोड करें।

पवन तनय संकट हरन, मंगल मूरति रुप। राम लखन सीता सहित, हृदय बसहु सुर भूप॥

Pawan tanay sankat haran, mangal murti roop. Ram Lakhan Sita sahit, hriday basahu sur bhoop

हे संकट मोचन पवन कुमार! आप आनन्द मंगलो के स्वरुप है। हे देवराज! आप श्री राम, सीता जी और लक्ष्मण सहित मेरे हृदय मे निवास कीजिए।

Oh trouble-shooter Pawan Kumar! You are the embodiment of Anand Mangalo. Hey Devraj! You reside in my heart along with Shri Ram, Sita ji and Lakshman.

hanuman chalisa in hindi pdf

Here you can download hanuman chalisa in hindi pdf

Hanuman Chalisa in Hindi pdf

Hanuman Chalisa in english pdf

Free download new education policy 2023 pdf

Note- All images are taken from online resources/websites/blogs. If anyone have any objection, kindly mail at info@pdfbankofindia.com.

1 COMMENT

  1. Somebody essentially help to make significantly articles Id state This is the first time I frequented your web page and up to now I surprised with the research you made to make this actual post incredible Fantastic job

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Read more

Latest Blog